यमन के हूती विद्रोहियों ने रविवार को प्रसारित फुटेज में कहा कि सऊदी अरब में एक बड़ा हम’ला हुआ जिसमें हजारों सैनिकों के सरेंडर करने या घा’यल होने से हजारों लोग मा’रे गए सैन्य प्रवक्ता याह्या साड़ी ने सऊदी बलों पर एक घात का वर्णन किया जो तब “ऑल-आउट” क्रॉस-बॉर्डर आक्रामक में विकसित हुआ जिसने सऊदी अरब के अंदर सैनिकों को फंसा दिया।

हुतियों के प्रवक्ता ने कहा कि, “200 से अधिक लोग मारे गए या आत्मसमर्पण करने की कोशिश करते हुए [मिसाइल और ड्रोन] के दर्जनों हम’लों में मारे गए।”

लड़ाई नजरान के दक्षिणी क्षेत्र में वीडियो छवियों के साथ हुई, जिसमें धमाकों और आत्मसमर्पण करने वाले सैनिकों द्वारा बख्तरबंद वाहनों को दिखाया गया था।

सऊदी अरब ने अभी तक हौथी दावे का जवाब नहीं दिया है। अल जज़ीरा स्वतंत्र रूप से हौथी-रन अलमाशीरा टीवी पर प्रसारित फुटेज या दावों को सत्यापित करने में सक्षम नहीं था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आरामको पर हमले के बाद सऊदी फौजों के लिए एक और बुरी ख़बर है। यमन के अंसारुल्लाह लड़ाकों ने सऊदी सीमा में घुसकर सेना के क़ाफिले पर हमला किया है। इसमें 500 फौजियों को मार गिराने और दो हज़ार सैनिकों को गिरफ्तार कर लेने का दावा किया गया है।

हालांकि सऊदी ने इस हमले की पुष्टि नहीं की है लेकिन अंसारुल्लाह ने रविवार को फोटो और वीडियो जारी किए हैं जिनमें बड़ी तादाद में क्षतिग्रस्त वाहन और सैनिकों की लाशें नज़र आ रही हैं। अगर ये दावा सही है तो 2015 से यमन में लड़ रही सऊदी गठबंधन सेनाओं के लिए ये अब तक का सबसे बड़ा झटका है।