हुती विद्रोहियों ने देश के दक्षिण-पश्चिमी प्रांत ताईज़ के आसमान में सऊदी-अगुवाई वाले सैन्य गठबंधन से जुड़े एक मानवरहित हवाई वाहन को निशाना बनाया। गठबंधन के सैन्य आक्रमण के खिलाफ जवाबी कार्रवाई में उनके खिलाफ ये कार्रवाई की गई।

हौथी अंसारुल्लाह आंदोलन के मीडिया ब्यूरो ने एक बयान में घोषणा की कि यमनी बलों और उनके सहयोगियों ने ड्रोन को गोली मार दी क्योंकि यह बुधवार दोपहर अल-वज़ीह जिले में एक टोही मिशन पर था।

एक अनाम यमनी सैन्य सूत्र ने अरबी भाषा के अल-मसीरा टेलीविजन नेटवर्क को बताया कि यमनी सैनिकों और संबद्ध लड़ाकों ने अलास्का सीमा पार सऊदी-नेतृत्व वाली सेनाओं की एक सभा में एक डोमेस्टिक-विकसित ज़ेलज़ल -1 (भूकंप -1) मिसाइल भी लॉन्च की।

बता दें कि मार्च 2015 में हादी की सरकार को सत्ता में लाने और अंसारुल्लाह आंदोलन को कुचलने के लक्ष्य के साथ यमन के खिलाफ एक विनाशकारी अभियान शुरू किया गया था। जिसमे लाखो लोग अपनी जान गवा चुके है।

गैर-लाभकारी संघर्ष-अनुसंधान संगठन, अमेरिका स्थित सशस्त्र संघर्ष स्थान और इवेंट डेटा प्रोजेक्ट (ACLED) का अनुमान है कि यु’द्ध ने पिछले साढ़े चार वर्षों में 91,000 से अधिक लोगों ने अपना जीवन खोया।