सफा समाचार एजेंसी ने बताया कि कल व्हाट्सएप ने गाज़ा पर इ’ज’रा’यली ह’म’ले के दौरान लाइव अपडेट प्रदान कर रहे सैकड़ों फिलिस्तीनी पत्रकारों और कार्यकर्ताओं को ब्लॉक कर दिया।

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, यह दो दिवसीय इ’जरा’य’ली ह’म’ले के अंत के 24 घंटे से भी कम समय बाद आया, जिसके परिणामस्वरूप 34 फिलिस्तीनियों की मौ’त हो गई और 111 अन्य घायल हो गए।

इ’ज़रा’इ’ली ह’म’ले के दौरान सक्रिय रहने वाले फिलिस्तीनी पत्रकारों और कार्यकर्ताओं ने बताया कि उनके एकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया था और वे उनका इस्तेमाल करने में असमर्थ थे।

फिलिस्तीनी पत्रकारों की गैदरिंग ने इस कदम की निंदा की और गाजा पट्टी में फिलिस्तीनियों के खिलाफ इ’जरा’य’ल के अ’परा’धों में व्हाट्सएप के जटिल होने का आ’रोप लगाया।

यह भी कहा कि यह फलस्तीनी नागरिकों और नागरिक लक्ष्यों के खिलाफ इ’जरा’यल के अ’परा’धों का खुलासा करने के उनके प्रयासों के परिणामस्वरूप आया।

समूह ने कहा, “यह इ’जरा’य’ल के अपराधों को कवर करने के लिए है और यह मदर कंपनी, फेसबुक के साथ-साथ ट्विटर पर भी जारी है, जिसमें हजारों फिलिस्तीनी पत्रकारों और मीडिया कंपनियों के हजारों और लाखों फॉलोवर्स के पेज और खातों को प्रतिबंधित और अवरुद्ध किया गया था।”