संयुक्त राज्य अमेरिका ने सऊदी अरब को सैन्य कर्मियों और संसाधनों की तैनाती की है यह कदम खाड़ी राज्यों में चल रहे असंतुलन के चलते और बिगड़ते माहौल के मदद्देनज़र लिए गया है। पेंटागन ने कहा है, ईरान के साथ अमेरिका के गतिरोध पर खाड़ी राज्यों में तनाव खत्म होने का नाम नही ले रहा है।

अल जज़ीरा के मुताबिक, पेंटागन ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि यह कदम क्षेत्र में “उभरते, विश्वसनीय खतरों” के सामने “एक अतिरिक्त निवारक” साबित होगा और जिसके चलते सऊदी अरब सुरक्षित रहेगा।

सऊदी अरब के रक्षा मंत्रालय द्वारा पुष्टि किए जाने के बाद शुक्रवार को बयान आया कि सऊदी क्षेत्रीय सुरक्षा और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए अमेरिकी सेनाओं की मेजबानी करेगा।

मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, “सऊदी अरब और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच आपसी सहयोग और क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता को बनाए रखने की उनकी इच्छा को बढ़ाने की उनकी इच्छा के आधार पर किंग सलमान ने अमेरिकी बलों की मेजबानी के लिए सहमति ज़ाहिर की है ।”

एक अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि तैनाती में लगभग 500 सैन्यकर्मी शामिल होंगे और मध्य पूर्व में अमेरिकी सैनिकों की संख्या में वृद्धि का हिस्सा है जो पेंटागन ने पिछले महीने घोषणा की थी।

अमेरिकी सेना ने यह भी कहा कि उसके पास हॉर्टुज के जलडमरूमध्य की निगरानी करने वाले गश्ती विमान है और प्रमुख मध्य पूर्व जलमार्ग में नेविगेशन की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के लिए “बहुराष्ट्रीय समुद्री प्रयास” विकसित कर रहा है।