संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार विशेषज्ञ का कहना है कि वह सउदी अरब में 2020 के जी -20 शिखर सम्मेलन को स्थगित करने के लिए कनाडा सरकार से कहेंगे – या इसका पूरी तरह से बहिष्कार करें।

एग्नेस कालमर्ड, संयुक्त राष्ट्र के विशेष अनुष्ठान, सारांश या मनमानी निष्पादन पर, दुनिया के नेताओं से आह्वान कर रहा है कि वे सऊदी अरब के राष्ट्रवादी जमाल खशोगी, वाशिंगटन पोस्ट स्तंभकार की ह’त्या का विरोध करने के लिए समिट को स्थानांतरित करने या बहिष्कार करें, जो अक्सर सऊदी सरकार के लिए महत्वपूर्ण था।

कैलाम सिम्पसन ने पावर एंड पॉलिटिक्स के मेजबान केटी सिम्पसन को बताया, “मैं कई सिफारिशों पर कई सरकारों तक पहुंचूंगी।”

UN expert

उन्होंने आगे कहा,”अगले साल सऊदी अरब में जी 20 की पकड़ उन सभी के चेहरे पर एक तमाचा है, जिन्होंने लड़ाई लड़ी है, और उनमें से कुछ की मौ’त हुई है, जवाबदेही के लिए और मानवाधिकारों की रक्षा के लिए।”

आपको बता दें कि, अग्रणी औद्योगिक और विकासशील राष्ट्रों का G20 शिखर सम्मेलन नवंबर, 2020 में सऊदी राज्य की राजधानी रियाद में होने वाला है।

जमाल खशोगी शादी की कागजी कार्रवाई को संभालने के लिए अक्टूबर 2018 में तुर्की में सऊदी वाणिज्य दूतावास में जैसे ही दाख़िल हुए। बाद में उसका गला घों’टकर ह’त्या कर दी गई। उनकी मौ’त के बाद, कनाडाई सरकार ने ह’त्या से जुड़े 17 सउदी लोगों को मंजूरी दे दी।