अतिरिक्त जद्दोजहद ह’त्या’ओं के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष संबंध ने आज पत्रकार जमाल खशोगी की ह’त्या पर सऊदी अरब को निगरानी तकनीक बेचने पर रोक लगाने पर चर्चा की गई।

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र के अन्वेषक एग्नेस कॉलमार्ड का फोन खशोगी की मौ’त पर उसकी रिपोर्ट जारी करने के बाद पिछले महीने आया है।

पिछले साल 2 अक्टूबर को इस्तांबुल में देश के वाणिज्य दूतावास में प्रवेश करने के कुछ समय बाद ही सऊदी गुर्गों के एक समूह द्वारा खशोगी की ह’त्या कर दी गई थी।

रियाद ने विभिन्न लोगों की पेशकश की, विवादित आख्यानों को उनके लापता होने की व्याख्या करने से पहले यह बताने के लिए कि राजनयिक भवन में उनकी ह’त्या कर दी गई थी, जबकि दुष्ट एजेंटों द्वारा किए जा रहे एक बॉटेड गायन ऑपरेशन पर उनकी मौ’त का दो’ष लगाने की मांग की गई थी।

खशोगी का श’व बरामद नहीं हुआ है, और राज्य अपने ठिकाने पर चुप है।

कैलमार्ड ने कहा कि उस तकनीक की विदेशी बिक्री पर प्रतिबंध से न केवल रियाद को खाशोगी की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकेगा, बल्कि इस तरह की असाधारण हत्या को फिर से रोकने में मदद मिलेगी।