भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को कल रात यानी यौमे आज़ादी वाले दिन बुर्ज खलीफा पर प्रदर्शित नहीं किया गया ।

यूएई के भारतीय राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने कहा, “हमने अभी अपने दोस्तों से एम्मार में सीखा है कि एक प्रमुख तकनीकी रोड़ा के कारण वे भारतीय तिरंगे के साथ बुर्ज खलीफा को प्रकाश में नहीं ला पाएंगे।”

“उन दोस्तों के लिए थोड़ी निराशा हुई जो यह उम्मीद कर रहे है की उन्हें बुरा नही लगेगा।

दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा को महत्वपूर्ण अवसरों पर मित्र देशों के राष्ट्रीय झंडे दिखाने के लिए जाना जाता है। भारत और पाकिस्तान के झंडे अतीत में कई बार टॉवर पर दिखाए गए हैं।

देश के स्वतंत्रता दिवस, 14 अगस्त, बुधवार को बुर्ज खलीफा पर पाकिस्तानी राष्ट्रीय ध्वज नहीं दिखाया गया था।