इन दिनों सोशल मेडिक तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोआन के ठिकाने पर अटकलें लगाई जा रही है, राष्ट्रपति के रूप में, आम तौर पर टीवी स्क्रीन पर भाषण देने वाले और गणमान्य लोगों से मिलने के लिए, एक हफ्ते से सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया है तो कुछ अरब मीडिया ने एर्दोगान की मौ’त खबर फैला दी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अरब और इज’राय’ल के समाचार आउटलेट्स के बाद अफवाहें फैल गईं, प्रत्येक ने एक दूसरे का हवाला देते हुए बताया कि एर्दोआन की दिल का दौरा पड़ने से मौ’त हो गई है और उनकी मौत को गुप्त रखा गया है।

ग्रीक सिटी टाइम्स ने कहा कि ये रिपोर्ट एक अरबी वेब साइट, अलारिस न्यूज़ से निकली है।

तुर्की के समाचार पत्र गुनोबु में एक स्तंभकार बालमिर गोक्तु ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति महल में अपने स्रोतों से पूछा था कि एर्दोआन कहाँ था और क्या वह छुट्टी पर था, लेकिन उसे स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं मिली। स्तंभकार ने यह भी कहा कि एर्दोआन ने इस सप्ताह बैंकरों के साथ एक बैठक स्थगित कर दी थी।

प्रेसीडेंसी के संचार निदेशालय ने 15 जुलाई को तख्तापलट की तीसरी सालगिरह के बाद से केवल लिखित बयान जारी किए हैं। मंगलवार को एर्दोआन के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट ने ब्रिटेन के आने वाले प्रधान मंत्री, बोरिस जॉनसन को बधाई का संदेश साझा किया।

एर्दोआन के साथ घनिष्ठ संबंध के लिए जाने जाने वाले हुर्रियत अखबार के एक स्तंभकार अब्दुक्लादिर सेल्वी ने बुधवार को कहा कि एर्दोआन आराम कर रहा था, लेकिन शुक्रवार को सत्तारूढ़ न्याय और विकास पार्टी (एकेपी) के प्रांतीय प्रमुखों के साथ एक बैठक की मेजबानी करेगा।