तुर्की संसद के अध्यक्ष, बिनाली यिलिरीम ने बुधवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पास स्थायी मुस्लिम सदस्य राज्य होना चाहिए.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक,यिलिरीम ने इस्तांबुल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों की संख्या 194 देशों में है जबकि इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) के 57 सदस्य हैं. यिलिरीम ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के चार राज्यों में से एक में मुस्लिम बहुमत है.

Turkish Prime Minister Binali Yildirim

यिलिरीम के अनुसार, नए युद्ध के फैलने से रोकने और वैश्विक स्थिरता प्राप्त करने के लिए द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सुरक्षा परिषद को पांच स्थायी सदस्यों को वीटो प्रदान किया गया था। “लेकिन आज हम देखते हैं कि वीटो अपने उद्देश्यों से दूर हो गया है और युद्ध शुरू करने के लिए एक उपकरण बन गया है.”

आपको बता दें की इससे पहले UN महासभा में रजब तय्यब एर्दोगान ने भी इस बात का ज़िक्र करते हुए UN पर सवाल उठाया था. एर्दोगान ने कहा था की UN में सिर्फ पांच देशों के पास ही पॉवर है जो की सरासर गलत है.