तुर्की सीरिया को तब तक नहीं छोड़ेगा, जब तक कि अन्य देश बाहर नहीं निकल जाते हैं, राष्ट्रपति तय्यब एर्दोगन ने शुक्रवार को एक बयान में कहा और कहा कि, अंकारा कुर्द लड़ाकों के खिलाफ अपनी सीमा पार से जारी रहेगा, जब तक कि उनमें से हर एक क्षेत्र से बाहर नहीं निकल जाता।

तुर्की ने अपनी सीमा से कुर्द वाईपीजी सेनानियों को चलाने और “सुरक्षित क्षेत्र” स्थापित करने के लिए पिछले महीने पूर्वोत्तर सीरिया में अपनी तीसरी सैन्य घु’सपैठ शुरू की, जहां इसका लक्ष्य 2 मिलियन सीरियाई शरणार्थियों को बसाना है।

सीमा के साथ 120 किलोमीटर (75 मील) की ज़मीन को ज़ब्त करने के बाद, तुर्की ने कुर्द मिलिशिया को उस क्षेत्र से बाहर रखने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस के साथ समझौता किया।

हंगरी की यात्रा से अपने फ्लाइट होम पर पत्रकारों से बात करते हुए, एर्दोगन ने कहा कि तुर्की केवल सीरिया छोड़ देगा, जब तक कि अन्य देश छोड़ नहीं जाते हैं, यह कहते हुए कि तुर्की आक्रामक तब तक जारी रहेगा जब तक सभी आ’तं’कवा’दी क्षेत्र छोड़ नहीं देते।

अमेरिका के समर्थित सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्सेज (एसडीएफ) के मुख्य घ’ट’क वाईपीजी का कहना है कि जब तक अंकारा आ’तं’कवा’दी संगठन के रूप में नजर नहीं आता, हम कहते हैं, “जब तक कि हर आखिरी आ’तं’कवा’दी क्षेत्र से बाहर नहीं निकल जाता,” हम ऐसा नहीं करेंगे।

ब्रॉडकास्टर एनटीवी द्वारा कहा गया कि जब तक अन्य देशों से बाहर नहीं निकल जाते, हम यहां से नहीं निकलेंगे।