रजब तय्यब एर्दोआन ने कहा कि उसने अपने अमेरिकी समकक्ष के एक पत्र को वापस कर दिया, जिसने अंकारा को पूर्वोत्तर सीरिया में अपने आ’तं’कवा’द-रोधी ऑपरेशन पर ध’म’की दी और वाशिंगटन को आ’तं’कवा’दी पीकेके-जुड़े समूह के नेता के इलाज के लिए पटक दिया।

वाशिंगटन में डोनाल्ड ट्रम्प के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एर्दोआन ने कहा, “मैंने राष्ट्रपति को पत्र प्रस्तुत किया और विशेष रूप से दुःख महसूस किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक अभिभाषक के रूप में फेरहट आब्दी नाम के आतं’कवा’दी को लिया।”

सहिन, जिसे उनके कोडनेम मजलूम कोबानी के नाम से जाना जाता है, पीकेके आतंकी संगठन पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट्स (वाईपीजी) का सीरियाई अ’परा’धी है। ट्रम्प ने बार-बार आतंकवादी नेता की प्रशंसा की और कहा कि वह उसे देखने के लिए उत्सुक हैं।

एर्दोआन ने कहा कि हसने सैकड़ों तुर्की लोगों की मौ’त का कारण बना है और वह पीकेके आ’तं’कवा’दी संगठन के जेल में बंद नेता अब्दुल्ला ओकालान का दत्तक पुत्र है।

एर्दोगान ने कहा कि,”यह वास्तव में हमें दुखी करता है कि अमेरिका, जिसे हम अपने रणनीतिक साझेदार कहते हैं, ऐसे व्यक्ति का स्वागत करता है। इसी तरह, रूस द्वारा इस व्यक्ति का स्वागत किया जाता है। दुनिया भर में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के दायरे में इसे समझना कठिन है।”

9 अक्टूबर को एर्दोआन को भेजे गए पत्र ट्रम्प ने तुर्की को आर्थिक तबाही की धम’की दी थी यदि अंकारा पूर्वोत्तर सीरिया में अपने ऑपरेशन के साथ आगे बढ़ा। इसकी असभ्य और अशिष्टता के रूप में भी आलोचना की गई थी।

एर्दोआन ने यह भी कहा कि उसने सीआईए के कुछ दस्तावेज जमा किए हैं जिनसे पता चलता है कि सहिन आ’तं’कवा’दी है।