रमजान के पाक महीने में ऑस्ट्रिया की सरकार ने फैसला किया है की 60 इमामों को उनके परिवार सहित देश से बाहर निकाल देगा. साथ ही साथ चंदा लेकर चलने वाली सात मस्जिदों को भी बंद करेगा.

ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबेस्टियन कुर्ज ने कहा कि सरकार विएना में मौजूद एक कट्टरवादी तुर्की राष्ट्रवादी मस्जिद को बंद कर रही है. इसके अलावा अरब धार्मिक संगठन से जुड़ी छह मस्जिदों को भी बंद किया जा रहा है. कुर्ज के मुताबिक, सरकार ने धार्मिक मामलों के प्राधिकरण की जांच के नतीजों के आधार पर यह फैसला लिया है.

तुर्की के विदेशमंत्री मेवलुत काउसोगलू ने कहा है कि आस्ट्रिया के चांसलर की ओर से कुछ मस्जिदों को बंद करने का फै़सला, इस्लाम दुश्मनी का परिचायक है. उन्होंने कहा कि इस्लाम विरोधी और जातिवादी नेता, यूरोप को ख़तरनाक खाई की ओर ले जा रहे है.

इसी संबन्ध में तुर्की के राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने कहा कि आस्ट्रिया में 7 मस्जिदों को बंद करके वहां के इमामों को निष्कासित करने का निर्णय, यूरोप विशेषकर आस्ट्रिया के बढ़ती जातीवादी विचारधरा का परिचायक है.  दूसरी ओर तु्र्की के उप प्रधानमंत्री ने आस्ट्रिया के इस फ़ैसले को यूरोप में धर्म की मौत की संक्षा दी है. तु्र्की के धार्मिक मामलों के राष्ट्रीय संघ के प्रमुख अली अरबाश ने कहा है कि आस्ट्रिया में सात मस्जिदों को बंद करने पर आधारित फै़सला, मानवाधिकारों और धार्मिक स्वतंत्रता का विरोधी होने के साथ ही एक बहुत बड़ी ग़लती है.

आपको बता दें कि आस्ट्रिया के चांस्लर ने शुक्रवार को कहा था कि इस देश में तुर्की की मदद से बनने वाली 7 मस्जिदों को बंद किया जाएगा और वहां के 60 इमामों को देश से निकाल दिया जाएगा.