प्राप्त जानकारी के मुताबिक़, सीरिया पर अमेरिका और उसके तथाकथित आ’तंक’वाद विरोधी गठबंधन द्वारा किए जा रहे पाश्विक हमलों आठ वर्षों से जारी सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन अमेरिका के तथाकथित आ’तंक”वाद विरोधी गठबंधन द्वारा सीरिया के विभिन्न इलाक़ों में की जाने वाली बमबारी और उससे मरने वाले लोगों ख़बरें सामने आती ही रहती हैं, लेकिन कभी-कभी कुछ समाचार ऐसे सामने आते हैं कि इस दुनिया में रहने वाले हर इंसान का दिल रो देता है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में सीरिया के मासूम बच्चे ईलान कुर्दी के शव की समुद्र तट पर वायरल होने वाली तस्वीर ने दुनिया को हिला दिया था।


ताज़ा एक मामले में एक बार फिर अमेरिकी गठबंधन के हवाई ह’म’ले इदलिब शहर में एक इमारत पूरी तरह नष्ट हो गई। इसमें पांच साल की रिहम अपनी सात महीने की दुधमुंही बहन तुका को बचाने के लिए आख़िरी दम तक जूझती रही। क़रीब में ही उसके पिता अमजद मदद के लिए चीखते रहे। बाद में दोनों बच्चियों को अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान रिहम की मौ’त हो गई, जबकि तुका आईसीयू में है।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि गंभीर रूप से घायल मासूम रिहम अपने घावों और जीवन की परवाह किए बिना मलबे में दबी अपनी दुधमुंही बहन को बचाने की कोशिश कर रही है। जिसके बाद उन पर बचाव दल की नज़र पड़ी और वे उन दोनों बहनों मलबे से निकालने में हो गए। इस बीच बचाव दल ने उन दोनों बहनों को अस्पताल भर्ती कराया जहां रिहम की इलाज को दौरान मौत हो गई वहीं तुका ज़िन्दगी और मौत से जूझ रही है।