राज्य की स्पुतनिक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि, क़तर का रूस के साथ समझौते पर सैन्य कार्रवाई करने के लिए सऊदी खतरों की सूचना के बावजूद रूस एक विरोधी विमान मिसाइल सिस्टम के साथ कतर की आपूर्ति करेगा.

एक रूसी सांसद ने शनिवार को टिप्पणी की, फ्रांसीसी दैनिक ले मोंडे ने बताया कि सऊदी किंग ने चेतावनी दी थी कि वह कतर को एस -400 सिस्टम प्राप्त करने से रोकने के लिए सेना का इस्तेमाल कर सकता है.

रूसी सांसद ने कहा कि, “रूस की तरफ से एक बयान में कहा गया की वह कतर को एस -400 की आपूर्ति करेगा और वह राज्य के बजट के लिए पैसे कमा रहा है. सऊदी अरब की स्थिति के साथ इसका कोई लेना-देना नहीं है, रूस की योजनाएं नहीं बदलेगी.

अरब नामा को मिली जानकारी के मुताबिक, उन्होंने आगे कहा कि, “यह स्पष्ट है कि रियाद इस क्षेत्र में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं, लेकिन रूसी एस -400 सिस्टम के अधिग्रहण के कारण कतर को सशस्त्र बलों को बढ़ाकर इसका फायदा होता है. इसलिए, सऊदी अरब का तनाव समझ में आता है.

आपको बता दें कि, किंग सलमान ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमानुअल मैक्रॉन को चेतावनी दी थी कि रियाद कतर को एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम हासिल करने से रोकने के लिए सैन्य कार्यवाही करके सेना का इस्तेमाल कर सकता है.

किंग सलमान ने कतर को अवरुद्ध करने के लिए अग्रणी रूसी एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम की स्लेटेड बिक्री के बारे में अपनी “गहन चिंता” व्यक्त की और फ्रांसीसी राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने को कहा.

सऊदी के किंग सलमान ने पत्र में लिखा है, “[ऐसी स्थिति में] सऊदी सैन्य कार्रवाई सहित इस रक्षा प्रणाली को खत्म करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने के लिए तैयार होगा.”

जून 2017 से कतर को सऊदी अरब द्वारा अवरुद्ध कर दिया गया है, जब रियाद ने “आतंकवाद का समर्थन करने” की खाड़ी की स्थिति पर कब्जा कर लिया और साथ ही सऊदी का इलज़ाम है की क़तर ईरान को समर्थन करता है, इसलिए  सऊदी ने क़तर से अपने राजनयिक सम्बन्ध खत्म कर दिए है.

सऊदी परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 


न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here