जहां एक तरफ अमेरिका और ईरान जं’ग की तैयारी में है और एक दूसरे को ध’मकी और चेतावनी दे रहे है वहीं दुनियाभर के देश दोनो देशोंन के बीच कुछ भी टिप्पणी करने से बचते नज़र आ रहे है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने बुधवार को कहा कि मध्य-पूर्व में बढ़ते तनाव से किसी का भला नहीं होगा. पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि जं’ग किसी के भी हक़ में नहीं है. साथ ही क़ुरैशी ने कहा कि अगर जंग हुई तो वैश्विक अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित होगी.

क़ुरैशी ने यह भी साफ़ कर दिया है कि क्षेत्रीय टकराव में पाकिस्तान कोई पार्टी नहीं बनेगा.उन्होंने कहा, ”क़ासिम सुलेमानी को मारने का असर ओसामा बिन लादेन और इस्लामिक स्टेट प्रमुख अबु बकर अल-बग़दादी की मौ’त से भी ज़्यादा होगा.

पाकिस्तान किसी भी तरह की एकतरफ़ा कार्रवाई का समर्थन नहीं करेगा. मध्य-पूर्व का तनाव बहुत ही गंभीर है.”

क़ुरैशी ने कहा कि यूएन चार्टर के हिसाब से किसी भी देश की संप्रभुता का सम्मान होना चाहिए. उन्होंने कहा, ”पाकिस्तान अपनी ज़मीन का इस्तेमाल नहीं होने देगा. हम इस मामले में कोई पार्टी नहीं बनेंगे.”