पाकिस्तानी सरकार के मुताबिक, इस समय 25 लाख से अधिक अफगान शरणार्थी पाकिस्तान में मौजूद हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा है कि वह इस देश में रहने वाले अफग़ान शरणार्थियों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रयास कर रहे हैं.

समाचार एजेन्सी तसनीम की रिपोर्ट के अनुसार इमरान ख़ान ने अपनी पहली कराची यात्रा के दौरान कहा है कि वह पाकिस्तान में रहने वाले अफग़ान शरणार्थियों की समस्याओं के समाधान का इरादा रखते हैं और उन समस्त अफ़ग़ानियों को पाकिस्तान की नागरिकता की जायेगी जो पाकिस्तान में पैदा हुए हैं और इसके बाद से उन्हें पाकिस्तान का राष्ट्रीय कार्ड प्राप्त करने में कोई समस्या पेश नहीं आयेगी.

पाकिस्तानी सरकार के अनुसार इस समय 25 लाख से अधिक अफगान शरणार्थी पाकिस्तान में मौजूद हैं कि उनमें से 15 लाख से अधिक का कानूनी रूप से पंजीकरण किया गया है जबकि दूसरे 10 लाख को पहचान पत्र और कानूनी ढंग से रहने की समस्या का सामना है.

रोचक बात यह है कि पाकिस्तान की सरकार ने पिछले वर्षों में अफगान शरणार्थियों के विरुद्ध शत्रुतापूर्ण और ताकत के बल पर उन्हें देश से निकाल देने की नीति अपनाई थी.

इसी तरह पाकिस्तान की सरकार ने घोषणा की थी कि अफगान शरणार्थियों के शिविर आतंकवादियों के गुप्त ठिकानों में परिवर्तित हो गये हैं और उन्हें जल्द से जल्द स्वदेश लौट जाना चाहिये.