सऊदी अरब और संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) ने ईरान के साथ तनाव को कम करने में मदद करने के लिए पाकिस्तानी प्रधान मंत्री इमरान खान से मदद मांगी है।

खान ने कल कहा कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के अनुरोध पर ईरान के साथ “मध्यस्थ के रूप में कार्य” कर रहे थे।

खान ने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की महासभा के आह्वान पर संवाददाताओं से कहा, “मैंने राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ बैठक के बाद कल राष्ट्रपति रूहानी से तुरंत बात की थी, जो न्यूयॉर्क में आयोजित हुई थी।”

उन्होंने कहा, “अभी हम इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकते हैं, सिवाय इसके कि हम प्रयास और मध्यस्थता कर रहे हैं।” पाकिस्तानी नेता ने बताया कि वह न्यूयॉर्क से पहले सऊदी अरब में थे, उन्होंने समझाया कि उन्होंने बिन सलमान के साथ बात की थी, जिन्होंने उन्हें रूहानी से बात करने के लिए भी कहा था।

बता दे कि अरामको संकट के बाद सऊदी अरब और ईरान के बीच तनाव चरम पर है। सऊदी ने इस पूरे संकट के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। जबकि हमले कि ज़िम्मेदारी हुती विद्रोहियों ने ली है।