JNU में प्रदर्शन के दौरान आज़ादी के नव्रे सुनने कक मिलते है। हाल ही मैं एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमे आज़ादी के नारे सुनने को मिल रहे है लेकिन यह नारे भारत मे नही बल्कि पाक की लाहौर यूनिवर्सिटी में सुनने को मिलरहे है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान की लाहौर यूनिवर्सिटी में भी छात्र ऐसे ही नारे लगाते दिखे हैं। भारत और पाकिस्तान में मशहूर शायर फैज अहमद फैज की जयंती से पहले आयोजित लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान छात्रों ने यह नारे लगाए। छात्रों ने ‘हम क्या मांगें आजादी, पढ़ने की आजादी।


वहीं छात्रों के नारे वाले कई विडियोज को सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है। फेसबुक और ट्विटर पर ये पाकिस्तान ही नहीं बल्कि भारत में भी खूब ट्रेंड हो रहे हैं। लाहौर यूनिवर्सिटी के छात्रों ने अपने प्रदर्शन के दौरान जब लाल-लाल लहराएगा, तब होश ठिकाने आएगा, जैसे नारे भी लगाए।

आपको बताते चले कि, जिस वक्त पाकिस्तान में छात्रे आजादी-आजादी के नारे लगा रहे थे, वहीं जेएनयू के छात्र भी दिल्ली में संसद तक मार्च के दौरान आजादी के नारे लगाते दिखे। ‘सुर्ख होगा, सुर्ख होगा, एशिया सुर्ख होगा’ का नारा भी छात्रों ने अपने कार्यक्रम में लगाया।

पाकिस्तान के अलावा भारत में भी वामपंथी विचारधारा से जुड़े लोग इसे काफी पसंद कर रहे हैं। बता दें कि लाल रंग को वामपंथी विचारधारा से जुड़े लोग अपने प्रतीक के तौर पर मानते रहे हैं।