पा’किस्तान के इतिहास में पहली बार सेना द्वारा एक महिला की नियुक्ति लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में की गयी है. पा’किस्तानी सेना के मीडिया विभाग ने ये जानकारी एक वक्तव्य के जरिये दी है. तीन सितारा जनरल का महत्वपूर्ण पद हासिल करने वाली मेजर जनरल निगर जौहर की नियुक्ति पा’किस्तानी सेना की पहली महिला सर्जन जनरल के पद पर भी हुई है. बता दें कि मेजर जनरल निगर जौहर सेना की मेडिकल कोर से जुडी हैं.

निगर 1985 में आर्मी मेडिकल कॉलेज, रावलपिंडी से ग्रेजुएशन करने के बाद पा’किस्तानी सेना के मेडिकल कोर के लिए चुनी गईं. इंटर सर्विसेज पब्लिज रिलेशंस के डायरेक्टर जनरल मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने ट्वीट कर लिखा- ‘वो पहली महिला अधिकारी हैं जिन्हें लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में पदोन्नति दी गयी है. अधिकारी को पा’किस्तानी सेना की पहली महिला सर्जन जनरल बनाया गया है.’ साल 2015 में वह संयुक्त सैन्य अस्पताल रावलपिंडी की डिप्टी कमांडेंट बनी थीं.

2017 में मेजर जनरल का पद हासिल करने वाली निगर जौहर पा’किस्तानी सेना की तीसरी महिला अधिकारी थीं. शाहिदा बादशा और शाहिदा मलिक अन्य दो महिला मेजर जनरल रही हैं. लेफ्टिनेंट जनरल निगर के पिता और पति दोनों ही पा’किस्तानी सेना में थे. वो रिटायर्ड मेजर मोहम्मद आमिर की भतीजी हैं, जो पा’किस्तान के पूर्व सेना अधिकारी हैं, जिन्होंने इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) में सेवा की थी. उनके पिता कर्नल कादिर ने भी आई’एसआई में सेवा की थी.