यूनाइटेड नेशन के साथ दुनिया के अलग अलग देशों में नागरिकता कानून का विरोध हो रहा है अब इस विरोध में इस्लामी सहयोग संगठन OIC भी शामिल ही गया है।

मीडिया रिपार्ट के मुताबिक, भारत में मुसलमानों के साथ हो रहे बदतरीन सुलूख पर OIC ने चिं’ता जताते हुए कहा है कि संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर और अन्य अंतर्राष्ट्रीय सिद्धांत, बिना भे’दभा’व अल्पसंख्यकों के अधिकारों की गारंटी देते हैं। हम मुस्लिमों के साथ और भेदभाव सहन नही करेंगे।

जेद्दा से जारी बयान में ओआईसी का कहना था कि ओआईसी का जनरल सेक्रेट्रीयेट भारत में मुस्लिम अल्पसंख्यकों को प्रभावित करने वाली हालिया कार्यवाहियों को गौर से देख रहा है।

भारत में सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी के विवादित नागरिकता संशोधन क़ानून और अन्य कार्यवाहियों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बयान में कहा गया है कि नागरिकता के अधिकार और बाबरी मस्जिद केस दोनों कार्यवाहियों पर चिं’ता है।