मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ज़ायोनी शासन और क्षेत्र में प्रतिरोध गुटों के बीच तनाव को ज़ायोनी प्रधान मंत्री नेतनयाहू के अपना भारत दौरा रद्द करने के पीछे वजह मान रहे हैं।

लेबनान के प्रतिरोध संगठन हिज़्बुल्लाह ने देश की वायु सीमा के ज़ायोनी शासन द्वारा हालिया अतिक्रमण के जवाब में रविवार की शाम उत्तरी अतिग्रहित भूमि पर ज़ायोनी सेना के एक सैन्य वाहन को निशाना बनाया जिसमें उसमें सवार सभी मारे गए या घायल हुए।

इस्राईली अख़बार हआरेत्ज़ के अनुसार, इस वाहन में 5 इस्राईली फ़ौजी सवार थे।

ज़ायोनी प्रधान मंत्री ने मंगलवार को अपने मंत्रीमंडल की बैठक के शुरु में कहा कि वह सीरिया में ईरान के प्रभाव को रोकने के लिए अमरीका और रूस के सथ फिर से बैठक करने की कोशिश में हैं