कुवैत शेख सबा अल-अहमद अल-जबर अल-सबाह के अमीर ने अजीज रहीम अल-दैहानी को खाड़ी राज्य के फिलिस्तीन के पहले राजदूत के रूप में नियुक्त करते हुए यह बड़ी जानकारी मीडिया को दी है ।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह फैसला तब आया जब कुवैत इज’रा’यल के अवैध कब्जे के खिलाफ फिलिस्तीन के लिए अपना समर्थन बढ़ाने के लिए काम करेंगा।

फिलिस्तीनियों ने कुवैत के इस कदम का स्वागत किया, खासकर कुवैत के मनामा, बहरीन में 25-26 जून के आर्थिक शिखर सम्मेलन का बहिष्कार करने के बाद, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दामाद और वरिष्ठ सलाहकार जेरेड कुशनेर के नेतृत्व में बहरीन में बैठक हुई थी।

जिसके मद्देनजर “पीस टू प्रॉस्पेरिटी” सम्मेलन ने फिलिस्तीन और इ’जरा’यल के लिए अमेरिका की “सदी के सौदे” शांति योजना के पहले भाग को रोल आउट किया, इसकी निंदा की गई और फिलिस्तीनियों द्वारा इसका बहिष्कार किया गया।

कुवैत इस आयोजन का बहिष्कार करने वाला एकमात्र खाड़ी राज्य था। जसने फिलिस्तीन का समर्थन किया।