मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, ईरान यु’द्ध को रोकने के लिए ईरान को अपनी सेना को बढ़ाना चाहिए, सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई ने शनिवार को वायु सेना के कमांडरों की एक सभा को बताया, देश पर अमेरिकी प्र’तिबंधों को “आप’रा’धिक कृ’त्य” के रूप में खारिज कर दिया।

ईरान के शीर्ष अधिकारी खमेनेई ने कहा, राज्य समाचार एजेंसी आईआरएनए के मुताबिक, “हमें काउंटी के खिलाफ किसी भी यु’द्ध को रोकने के लिए मजबूत होना चाहिए। कमजोर होने के नाते, हमारे दुश्म’नों को ईरान पर ह’मला करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। ”

इस्लामिक रिपब्लिक ने अपनी बैलिस्टिक मिसा’इल कार्यक्रम सहित अपनी सैन्य क्षमताओं पर अंकुश लगाने के लिए पश्चिमी देशों के बढ़ते दबाव के बावजूद अपनी सैन्य ताकत बढ़ाने की कसम खाई है।

तेहरान और वाशिंगटन के बीच तनाव 2018 के बाद से बढ़ गया है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान और विश्व शक्तियों के बीच 2015 के समझौते को त्याग दिया था, जिसके तहत तेहरान ने प्रतिबंधों को उठाने के बदले में अपने परमाणु कार्यक्रम पर अंकुश लगाया।