जेरूसलम की मस्जिद अल अक्सा इल्साम की तीसरी सबसे पवित्र स्थलों में से एक है. रमज़ान के पाक महीने में हज़ारों फिलिस्तीनी मस्जिद अल अक्सा में इबादत के लिए आते है. आज हम सुनाने जा रहे है आपको मस्जिद अल अक्सा की खूबसूरत फज्र की अज़ान.

वैसे आपको बता दें कि,  रमजान के आखिरी रोज़े यानी “अलविदे जुमे” पर 280,000 फिलिस्तीनियों ने कल अल-अक्सा में नमाज़ पढ़ी. आपको बता दें की अरब देशों के साथ मिडिल ईस्ट के में कल का जुमा आखिरी जुमा माना गया.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, इसरायली सैनिकों ने कब्ज़े वाले वेस्ट बैंक से जेरूसलम में आने के लिए 40 साल की उम्र वाले फिलिस्तीनियों को जेरूसलम में दाखिल होने की इजाज़त नहीं है.

ना ही किसी कब्ज़े वाले गाजा पट्टी से किसी फिलिस्तीनी को मस्जिद अल अक्सा के अंदर दाखिल होने की इजाज़त है. इजराइल का कहर लगातार जारी है.