बुधवार को अमेरिका के हार्वर्ड लॉ स्कूल में एक भाषण देने के दौरान इज रायल के महावाणिज्य दूत न्यूयॉर्क दानी दयान को कम से कम सौ छात्रों के विरोध को झेलना पड़ा।

दयान ने फ़िलिस्तीन के कब्जे में “द इज़ राइली सेटलमेंट्स की कानूनी रणनीति” पर अपनी बात शुरू करने की कोशिश की, ठीक उसी समय लेक्चर थिएटर में माजूद छात्र खड़े हो गए, और चिल्लाने लगे “सेटलमेंट्स एक यु द्ध अप राध हैं”, इसके साथ ही सभी ने प्लेकार्ड उठा लिए और मौन में कमरे से बाहर चले गए।

इस घटना के प्रभाव ने इस मुद्दे पर जागरूकता की एक चिं गारी पैदा की और एक बड़ी छाप छोड़ी। वि रोध-प्रदर्शन के आयोजकों में से एक, समर हज्जुज ने यूके स्थित मीडिया आउटलेट मिडिल ईस्ट आई से कहा कि “100 लोगों को एक साथ और चुपचाप खड़े होना, ने एक प्रभाव छोड़ दिया।”

उन्होने कहा,  “जैसे ही हमें इस घटना के बारे में पता चला, हमने योजना बनाई और इसमें बहुत समय लगा लेकिन हार्वर्ड के प्रत्येक स्कूल में हमारी एक टीम थी, लोगों को खोजने में मदद करने के लिए हमें ऐसा करने में मदद मिली।”
दयान वेस्ट बैंक के कब्जे में इज रायल की बस्तियों की स्थापना और रखरखाव के लिए एक प्रमुख वकील है। उन्होंने यशा परिषद के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया, जो 2007 से 2013 तक अवैध इज रायल की बस्तियों का एक गठबंधन था। बाद में उन्हें परिषद के मुख्य विदेशी दूत के रूप में नियुक्त किया गया

सऊदी परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 


न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here