ईरान ने दावा किया कि, ईरान की ओर सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात के स्पष्ट झुकाव ने हालिया दिनों में संसार के बहुत से संचार माध्यमों का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट किया है।

सऊदी अरब और संयुक्त इमारात ने हालिया हफ़्तों विशेष कर हालिया दिनों में ईरान के संबंध में अपने रुख़ में ध्यान योग्य बदलाव किया है। इमारात के उप विदेश मंत्री अनवर क़रक़ाश ने, जो ईरान के ख़िलाफ़ अपने कड़े व चरमपंथी रुख़ के लिए मशहूर हैं, हाल ही में एक ट्वीट करके कहा है कि अबू धाबी और रियाज़ ईरान के संबंध में टकराव के बजाए राजनैतिक रवैये को प्राथमिकता दे रहे हैं।

ईरानी मीडिया के मुताबिक, छह साल के बाद तेहरान में ईरान व इमारात के तटरक्षक बलों की संयुक्त बैठक का आयोजन दोनों देशों के संबंधों में एक अहम बदलाव है। इमारत के तटरक्षक बल के शिष्टमंडल की तेहरान यात्रा के बाद एक और दल ने ईरान का दौरा किया और उसके दौरे का लक्ष्य ईरान के साथ बैंकिंग सहयोग के लिए अबू धाबी की तैयारी की घोषणा करना बताया गया।

इमारात ने दोनों देशों के आर्थिक सहयोग को मज़बूत बनाने के मार्गों की समीक्षा के लिए यह दल तेहरान भेज कर, वह भी ऐसी स्थिति में जब ईरान पर प्रतिबंध लगे हुए हैं, तेहरान को एक अहम सकारात्मक सिग्नल दे दिया। उसी समय एक इस्राईली वेबसाइट ने बताया कि सऊदी अरब और इमारात ने ईरान के साथ अपने ख़ुफ़िया संपर्कों को बढ़ा दिया है और सऊदी युवराज बड़ी गंभीरता से ईरान से वार्ता शुरू करने की समीक्षा कर रहे हैं।