अमरीकी इन्वेस्टीगेटर्स इस बात की जांच कर रहे हैं कि ट्रम्प के चुनावी सलाहकार ने सऊदी अरब तथा संयुक्त अरब इमारात से कितनी रिश्वत ली थी।

ट्रम्प के चुनावी सलाहकार टाॅम बराक पर आरोप है कि उन्होंने अमरीका के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात से अरबों डाॅलर की रिश्वत ली थी। इससे पहले न्यूयार्क टाइम्स ने लिखा था कि ट्रम्प के चुनावी सलाहकार 9 महीनों तक लगातार सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात के प्रतिनिधियों से संपर्क में थे।

अमरीकी निरीक्षक साथ ही गवाहों से इस बारे में भी पूछताछ करेंगे कि सऊदी अरब को परमाणु तकनीक देने के प्रस्ताव में टाॅम बराक की क्या भूमिका थी। इसी प्रकार अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प के दामाद कुश्नर सहित उनके निकटवर्तियों पर यह भी आरोप है कि उन्होंने सऊदी अरब तथा संयुक्त अरब इमारात को हथियारों का सौदा कराने के लिए रिश्वत के रूप में मोटी रक़म हासिल की थी।