मद्देनजर स्पष्टीकरण आया। दरअसल एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था, सिंगल एंट्री वीजा पर अब 93 डॉलर से बढ़कर 533 डॉलर का खर्च आएगा, एक मल्टीपल एंट्री में 6 महीने के वीजा पर 800 डॉलर और एक साल के वीजा पर 1,333 डॉलर का खर्च आएगा।

संशोधित वीज़ा शुल्क सभी पर्यटकों, धार्मिक या व्यापारिक आगंतुकों पर लागू होगा। हालांकि पहली बार यात्रा करने वालों को छूट दी गई है। हालांकि अब राजदूत ने स्पष्ट किया कि इस साल सितंबर में, सऊदी सरकार के एक शाही फरमान ने “एक वर्ष से कम समय में दूसरी या लगातार उमराह करने वाले तीर्थयात्रियों के लिए SAR 2000 का जुर्माना रद्द कर दिया। हज और उमराह के लिए वीजा शुल्क केवल एसएआर 300 है जो यूएस $ 80 के आसपास है। “

डॉ सईद ने बुधवार को हज और उमराह के सऊदी मंत्री डॉ मोहम्मद सालेह बिन ताहेर बेंटेन से हज यात्रा 2020 के दौरान भारतीय हाजियों की व्यवस्था पर चर्चा करने के लिए मुलाकात की। उन्होंने कहा, ” किंगडम ने अन्य राष्ट्रीयताओं के लिए पर्यटक वीजा भी खोल दिया है, जो एक वर्ष और कई प्रविष्टियों के लिए वैध है, जिस पर एक ट्रैवल एजेंट के माध्यम से जाने बिना उमराह किया जा सकता है।”

उन्होंने कहा, “हम भारतीय पर्यटकों को विशेष रूप से वैध यूएस, यूके और शेंगेन वीजा के साथ समान सुविधाएं देने के लिए किंगडम के साथ काम कर रहे हैं।”