इ’ज़रा’इल का फिलिस्तीन की ओर रुख दुनोया से सहिपा नही है। हाल ही में ज़ायोनी सेना ने फिलीस्तीनी ज़मीन पर बड़े ह’म’ले किये जिसमे 2 फिलिसितनी शहीद हो गए और सैकड़ों जख्मी हो गए। इस बरबाव के खिलाफ दुनिया भर के तमाम देशों ने फिलिस्तीन के प्रति अपना पूर्ण समर्थन ज़ाहिर किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, UN महासभा की मंगलवार को हुई बैठक में अपने पुराने रुख पर कायम रहते हुए भारत ने फिलिस्तीनियों के आत्म-संकल्प के अधिकार से संबंधित प्रस्ताव का समर्थन किया. भारत समेत 165 देशों ने फिलिस्तीन के पक्ष में वोट किया.

वहीं आपको बता दें कि सिर्फ इ’जराय’ल, अमेरिका, नाउरु, माइक्रोनेशिया और मार्शल आइलैंड ने प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया.वहीं, ऑस्ट्रेलिया, गुएंटेमाला और रवांडा समेत 9 देशों ने मतदान से दूरी बना ली. यह प्रस्ताव उत्तर कोरिया, मिस्त्र, निकारगुआ, जिम्बॉब्वे और फिलिस्तीन द्वारा लाया गया था.

इस प्रस्ताव पर 19 नवंबर को मतदान हुआ.यह मतदान विवादित फिलिस्तीन क्षेत्र में इ’जरा’यली बसावट को लेकर अमेरिका के अपनी नीति बदलने के एक दिन बाद कराया गया है.अमेरिका ने कब्जे वाले वेस्ट बैंक पर चार दशक पुरानी अपनी विदेश नीति में बदलाव किया था.

अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक, वेस्ट बैंक में इजराइल की ओर से की गई बसावट अवैध है लेकिन इजराइल ऐसा नहीं मानता. दो दिन पहले अमेरिका ने भी इ’जरा’यल के रुख का समर्थन कर दिया. लेकिन दुनिया भर के ज़्यादातर देश इसके विरोध में है।