दुनियाभर के देशों में ईद उल अज़हा इस साल अलग तरीके से मनाई गई क्योंकि कोरोना महामारी के चलते कई एहतियात नियमों का पालन करते हुए ईद मनाई गई। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने ईद उल अज़हा के मौके पर कहा कि एक मस्जिद के रूप में हागिया सोफिया को फिर से खोले जाने से ईद की खुशी दुगनी हुई है।

एर्दोगान ने वीडियो के माध्यम से कहा, “हगिया सोफिया भव्य मस्जिद को फिर से खोलने से हमारे देश के दिल में एक 86 साल पुराना घाव ईद की खुशी से भर गया है।”

अपने सत्तारूढ़ AKP के स्थानीय अधिकारियों से बातचीत में एर्दोआन ने कहा कि उन्होंने आगामी पार्टी कांग्रेस को “नए पुनरुत्थान, एक नए बढ़ते मील के पत्थर” के रूप में रखने की मांग की।

एर्दोआन ने कहा कि जो लोग “खुद को राष्ट्र के ऊपर देखते हैं” वे एकेपी के सदस्य नहीं हो सकते हैं। उन्होने कहा, “हम अपने दोस्तों को बढ़ाएंगे, हम अपने दुश्मनों को कम कर देंगे।”

तुर्की राष्ट्रपति ने कहा, “एकेपी के अस्तित्व का कारण, हम इन कर्तव्यों को लेते हैं और हमारे लिए लोगों की आशा का कारण एक ही है।” 24 जुलाई को, हागिया सोफिया ग्रैंड मस्जिद में 86 वर्षों में पहली बार शुक्रवार की नमाज हुई।

सऊदी परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 


न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here
Loading...