ईरान और सऊदी के बीच पिछले कुछ दिनों से फिर से घमासान जारी हो गया है. जहाँ ईरान सऊदी को धमकी देता नज़र आ रहा है वहीँ सऊदी भी ईरान पर आरोपों लगाने से पीछे नहीं हट रहा है. हाल ही में ईरान  ने सऊदी हुए संयुक्त अरब अमीरात को चेताया और ईरान के आंतरिक मामलों में दखल ना देने की सलाह है.

ईरान के क्रांतिकारी गार्ड बल के कमांडर ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने शुक्रवार को तेहरान में एक कलीसिया को बताया कि उन्होंने अमेरिका के साथ हालिया तनावों से सीखा है.  उन्होंने कहा है: “हमें ज़िंदा रहने के लिए शक्तिशाली होना चाहिए.”

सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात पर ज़ुबानी वार करते हुए कहा कि, “अगर आप हमारी “इंतिहा की लक्कीर ” को पार ना करने के कहा है. उन्होंने आगे कहा की,”शांत हो जाओ और हस्तक्षेप न करें, आपकी क्षेत्रीय महत्वाकांक्षाएं नाकाम रही हैं.”

सेना की परेड पर हमले में 24 लोगों की मौत के बाद ईरान के रेवोलुशनरी गार्ड ने सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को देश के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप ना करने एवं ”लक्ष्मण रेखा पार ना करने की चेतावनी दी है.