मिडिल ईस्ट मॉनिटर की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी यहूदी संगठनों के एक गठबंधन ने इ’ज’रा’यल के राजनीतिक दलों के नेताओं को एक पत्र भेजा है, जिसमें उन्हें कब्जे वाले वेस्ट बैंक के पूर्ण या आंशिक रूप से विच्छेद के खिलाफ चेतावनी दी गई है।

उदारवादी वकालत समूह जे स्ट्रीट के अध्यक्ष, जेरेमी बेन-अमी के मुताबिक, इ’जरा’यल के प्रधान मंत्री, बेंजामिन नेतन्याहू ने इस साल 17 सितंबर को जॉर्डन घाटी की स्थापना करने का वादा किया, जो कि वेस्ट बैंक क्षेत्र का 30 प्रतिशत हिस्सा है, अगर वह फिर से चुने जाते हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि, “वेस्ट बैंक में एकतरफा घोषणाओं को अंजाम देना इ’ज’राय’ल के लोकतंत्र को नष्ट कर देगा और देश को स्थायी संघर्ष के लिए वि’ना’शका’री रास्ते पर ले जाएगा।”

पत्र में कहा गया है कि यदि अमेरिकी राष्ट्रपति, डोनाल्ड ट्रम्प और उनके प्रशासन को इस निर्णय का समर्थन करना है, तो इ’ज़’रा’इल को दीर्घकालिक अमेरिकी नीति के संकेत के रूप में नहीं लेना चाहिए।

अमेरिकी यहूदी समूहों ने इ’ज़’राइ’ल द्वारा वेस्ट बैंक में अवैध निर्माण को लेक्ट नाराजगी जताई है। मार्च 2019 में, अमेरिका ने एक दशक पुरानी अंतर्राष्ट्रीय सहमति को नजरअंदाज कर दिया और कब्जे वाले गोलन हाइट्स के बारे में इ’जरा’यल की घोषणा को मान्यता दी।

गठबंधन ने जोर देकर कहा कि एनेक्सेशन अमेरिकी यहूदियों के साथ इ’जरा’य’ल के संबंधों को नुकसान पहुंचा सकता है क्योंकि “अमेरिकी यहूदियों का विशाल बहुमत इ’जरा’यल-फिलिस्तीनी संघर्ष के लिए दो-राज्य समाधान का समर्थन करता है।”