अमेरिका समर्थित मिलिटेंट्स ने, तुर्की के राष्ट्रपति द्वारा सीरिया में रविवार तक ज़मीनी और हवाई ह’मले के एलान के बाद, पूरी ताक़त से लड़ने की चेतावनी दी है।

कथित सीरियन डेमोक्रेटिक फ़ोर्सेज़ ने शनिवार को कहा कि वह पूर्वोत्तरी सीरिया में, तुर्की के किसी भी अकारण ह’मले का पूरी ताक़त से जवाब देने में तनिक भी नहीं हिचकिचाएगी।

इससे पहले तुर्क राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान ने अमरीका के साथ सीरिया में सेफ़ ज़ोन बनाने की समय सीमा ख़त्म होने पर पूर्वी फ़ुरात में ज़मीनी और हवाई ह’मले करने की धमकी दी थी।

उन्होंने शनिवार को एके पार्टी के वार्षिक कैंप में कहाः “हम वार्ता में शामिल लोगों को पूर्वी फ़ुरात के संबंध में सारी चेतावनी दे चुके हैं। हमने बहुत धैर्य से काम लिया है।”

अर्दोग़ान ने आगे कहाः “हमने तय्यारी कर ली है, हमने कार्यवाही की योजना बना ली है, ज़रूरी निर्देष दिए जा चुके हैं, आज या कल तक सैन्य कार्यवाही शुरु हो जाएगी।”

मंगलवार को रजब तय्यब अर्दोग़ान ने कहा कि सेफ़ ज़ोन बनाने के संबंध में तुर्की का अमरीका के साथ सब्र का पैमाना भर चुका है।

उन्होंने कहा कि अमरीका के साथ प्रगति न होने के मद्देनज़र, तुर्की के पास अब सीमावर्ती इलाक़ों से वाईपीजी के मिलिटेंट्स को खदेड़ने के सिवा कोई रास्ता नहीं है।

अगस्त में तुर्की की सीमा और सीरिया में अमरीका समर्थित मिलिटेंट्स के नियंत्रण वाले इलाक़े में अमरीका और तुर्की बफ़र ज़ोन बनाने पर सहमत हुये थे।

सीरिया ने इस कथित बफ़र ज़ोन को ख़ारिज करते हुए देश की एकता व अखंडता को नुक़सान पहुंचाने वाले किसी भी योजना की निंदा की थी।