तुर्की राष्ट्रपति विश्व नेताओं में एक उभरते हुए नेता है. जिन्हें उनकी बेबाकी और निडरता के लिए जाना जाता है. साथ ही एर्दोगान मुस्लिम जगत के सबसे लोकप्रिय और चहेता नेता है. वह हर दम मुसलमानों के हक में खड़े नज़र आते है. ऐसा ही कुछ वह फिर करने जा रहे है. UN ने एर्दोगान को UN असेंबली में शिरकत क्र ने के लिए निमंत्रण भेजा है.

तुर्की मीडिया डेली सबाह के मुताबिक, शुक्रवार को एक आधिकारिक बयान के अनुसार, राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान संयुक्त राष्ट्र में संयुक्त राष्ट्र (यूएन) जनरल असेंबली के 73 वें सत्र में भाग लेंगे.आने वाले सप्ताह के दौरान आम सभा दुनिया भर से 140 से अधिक राज्यों और सरकारी प्रमुखों की मेजबानी करेगी.

वह यूएन के महासचिव एंटोनियो ग्युटेरेस द्वारा आयोजित किए जाने वाले दोपहर के भोजन में भी भाग लेंगे.  तुर्की और मुस्लिम समुदायों, निवेश और व्यापार मंडल और राय नेताओं के प्रतिनिधियों से मिलेंगे.

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, ख़ास बात यह है कि, एर्दोगान उच्च स्तरीय बैठकों में तुर्की और मुस्लिम समुदाय का प्रतिनिधित्व करेंगे जो 25 सितंबर को शुरू होगा. राष्ट्रपति प्रेस कार्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, तुर्की अध्यक्ष 23 से 27 सितंबर तक न्यू यॉर्क में होंगे.  एर्दोगान सोमवार, 24 सितंबर को शरणार्थियों पर ग्लोबल कॉम्पैक्ट पर उच्च स्तरीय कार्यक्रम में भी भाग लेंगे.

मंगलवार को, 25 सितंबर को, वह यूएन जनरल असेंबली को संबोधित करेंगे. एर्दोगान से विधानसभा के दौरान विभिन्न देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक होने की भी उम्मीद है.