इंडोनेशिया के सूत्रों ने बताया है कि सोलावसी द्वीप में भूकंप और सूनामी में अब तक 1203 लोगों के जान गवाने की पुष्टि हो गयी है.  इंडोनेशिया के उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह संख्या हज़ारों तक पहुंच सकती है.

तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान ने रविवार को इंडोनेशिया में आये भूकंप और सुनामी के लिए दुःख ज़ाहिर किया. एर्दोगान ने कहा की तुर्की ने अपनी इमरजेंसी टीम इंडोनेशिया भेज दी है और हम हर तरह से पीड़ितों की मदद करने के लिए तैयार है.


एर्दोगान ने ट्विटर पर कहा, “तुर्की पीड़ितों के घावों को ठीक करने में मदद करने के लिए अपनी शक्ति में सबकुछ करने के लिए तैयार है.”

उन्होंने कहा, “मैं अपने भाइयों और बहनों के लिए अल्लाह से दुआ करूंगा, जो इंडोनेशिया में भूकंप और सुनामी में शहीद हुए है. घायल लोगों को तेजी से वसूली की मांग करते हैं और इंडोनेशिया के लोगों को मेरी गहरी संवेदना देते हैं.”

एक दिन पहले, तुर्की विदेश मंत्रालय ने प्राकृतिक आपदा में पीड़ितों के परिवारों को शोक व्यक्त किया और कहा कि तुर्की किसी भी सहायता की आवश्यकता के लिए तैयार है. तुर्की मानवतावादी राहत फाउंडेशन ने इंडोनेशिया में प्रभावित क्षेत्रों में पांच व्यक्ति आपातकालीन सहायता टीम भेजी है.