विश्व नेताओं ने स्यिरा के इदलिब में तुर्की-रूस सौदे का स्वागत किया है, जिसके तहत संभावित सीरियाई सैन्य गतिविधियों को रोकने से 3 मिलियन से अधिक नागरिकों के जीवन को बचाया है. इस समझौते को हल करने के लिए सैन्य बल के बजाय कूटनीति का इस्तेमाल करने पर राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान ने ही सीरिया में खूनखराबे को रोकने के लिए यह फल शुरू की.

टर्की मीडिया के मुताबिक, इद्लिब के नागरिकों ने एर्दोगान प्रयासों के लिए और तुर्की की प्रशंसा भी की है, जिसने सीरियाई शासन की क्रूरता से सीरियाई नागरिकों के जीवन को बचाने में मदद की.

इद्लिब के निवासी अहमद ज़ारज़ुर ने अनादोलू एजेंसी को एक इंटरव्यू देते हुए कहा कि, “हम तुर्की पर भरोसा करते हैं; हम इस क्षेत्र में मजबूत और सक्रिय होने पर तुर्की को मजबूत महसूस करते हैं.”ज़ारज़ूर ने कहा, “हम इस समझौते को हमारे लिए अच्छी चीज के रूप में देखते हैं. हमें उम्मीद है कि इससे इद्लिब के लोगों के लिए अच्छे नतीजे आएंगे.

 

इद्लिब के एक अस्पताल के प्रबंधक अब्दुस्सलम हसन ने यह भी रेखांकित किया कि रूस और तुर्की के बीच समझौते के क्षेत्र में सकारात्मक प्रतिबिंब है. वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, हसन ने कहा, “हम चाहते हैं कि तुर्की इस क्षेत्र पर विश्वास प्रदान करे. हम सहायता संगठनों की मदद भी मांगते हैं.” रूस के साथ तुर्की के प्रयासों की भी गुरुवार को यूएन के महासचिव एंटोनियो ग्युटेरेस ने सराहना की.

उन्होंने कहा कि रूसी शहर सोची में सोमवार को हस्ताक्षर किए गए सौदे ने संभावित रूप से 3 मिलियन नागरिकों के जीवन को बचाया है.

ग्युटेरेस ने न्यूयॉर्क में यूएन मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “यदि इस सौदे को सही तरीके से कार्यान्वित किया जा सकता है, तो 1 मिलियन बच्चों सहित 3 मिलियन नागरिकों को आपदा से बचाया जा सकता है.”