RIYADH – पिछले दो वर्षों के दौरान 4.25 मिलियन अवैध प्रवासी गि’रफ्ता’र किए गए हैं। गिर’फ्तार किए गए लोगों में से, एक लाख से अधिक को गुरुवार तक उनके संबंधित घरों में भेज दिया गया है, नेशन फ्री ऑफ वायलेटर्स अभियान ने घोषणा की है।

इस अभियान ने नवंबर 2017 के मध्य से उल्लंघनकर्ताओं पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू कर दी। इस अभियान में श्रम और सामाजिक विकास मंत्रालय और पासपोर्ट महानिदेशालय (जवाजत) सहित कुल 19 मंत्रालय और सरकारी विभाग भाग ले रहे हैं।

अभियान ने कहा कि 3.3 मिलियन प्रवासी रेजीडेंसी कानूनों के उल्लंघन में थे, 653,674 कार्य कानूनों के उल्लंघन के लिए बुक किए गए थे और 274,239 सीमा सुरक्षा प्रणाली थी।

यह कहा गया कि इसकी दक्षिणी सीमाओं से सऊदी में घुसपैठ करने का प्रयास करते हुए 75,864 लोगों को गि’रफ्ता’र किया गया था। उनमें से, ५४ प्रतिशत इथियोपिया के, ४३ प्रतिशत यमन के और तीन प्रतिशत अन्य विभिन्न राष्ट्रीयताओं के लोग थे

अभियान ने कहा कि 2,945 लोग अवैध रूप सऊदी छोड़ने की कोशिश कर रहे थे, जबकि 4,690 पर अ’वैध प्रवासियों को आवास और परिवहन प्रदान करने का आ’रोप लगाया गया था।

इनमें 1,715 सउदी शामिल थे, जिनमें से 1,671 से पूछताछ की गई, दं’डित किया गया और रिहा कर दिया गया, जबकि 44 अन्य नागरिकों की अभी भी जांच की गई।

अभियान में कहा गया है कि 14,027 प्रवासियों को हिरा’सत केंद्रों पर रखा गया था। इनमें 12,757 पुरुष और 1,270 महिलाएं शामिल थीं।

अभियान के अनुसार, 538,290 को उनके संबंधित दूतावासों और वाणिज्य दूतावासों को यात्रा दस्तावेजों के साथ जारी करने के लिए भेजा गया, जबकि 715,200 अपनी उड़ान बुकिंग कर रहे थे।