बड़ी खबर के साथ, सऊदी जनरल प्रेसीडेंसी ने पुष्टि की है कि मस्जिद अल हरम और मस्जिद अल नबवी में ईद उल अज़हा 2020 की नमाज़ अदा की जाएगी। बाकी किसी भी खुली जगह में नमाज़ पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

ईद अल फितर 2020 में मस्जिदों में नमाज़ नही करने से मुस्लिम काफी परेशान थे लेकिन यह खबर हर किसी को खुश कर रही है। मस्जिदों को कोरोनावायरस महामा’री के कारण बंद कर दिया था। लेकिन ईद उल अज़हा की यह खबर खुशी की लहर ला रही है क्योंकि जनरल प्रेसीडेंसी ने ईद उल अज़हा 2020 को खुले रखने और इबादत करने की इजाज़त दी है। इसके अलावा अगर कोई भी सऊदी या प्रावसी खुली जगह में नामज़ अदा करता दिखा तो उसकी खैर नही।

यह भी विस्तृत था कि सऊदी अरब में मस्जिदों को सामाजिक भेद नियमों का पूरी तरह से पालन करने के लिए ईद उल अज़हा नमाज़ अदा करने की अनुमति है। मस्जिद अल-हरम और मस्जिद अल नबावी के साथ भी इसी तरह के सामाजिक भेद नियम लागू किए जा रहे हैं।

यह भी घोषणा की गई थी कि लोग हज 2020 के दौरान ब्लैकस्टोन और काबा को नहीं छू पाएंगे।