सऊदी मीडिया के मुताबिक़, सऊदी अरब में नकली काबे शरीफ़ का गिलाफ़ (किस्वा) बनाने और बेचने वाले एक गिरोह को गि’रफ्ता’र किया गया। आपको बता दें की उमराह ज़ायरीन गिलाफ़ का एक टुकड़ा पाने के लिए भारी कीमत चुकाते हैं।

आपको बता दें कि दुनियाभर से उमराह और हज ज़ायरीन हर साल सऊदी से तस्वीह, जनेमाज़ साथ ही ज़मज़म का पानी लेकर जाते है। और अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांगते है।

सऊदी में अक्सर प्रवासी फ़र्ज़ी काम करते पकड़े जाते है जिसके तहत उन्हें काई सालों की जेल साथ निर्वासन का सामना करना पड़ता है। सऊदी में कई बार बड़े जुर्म की कड़ी से कड़ी सजा मिलती है।