बुधवार को जारी विश्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक़, 2017 के बाद से सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था ने लैंगिक समानता की ओर विश्व स्तर पर सबसे बड़ी प्रगति की है।

विश्व बैंक की “महिला, व्यापार और कानून 2020” अध्ययन, जो यह बताता है कि 190 अर्थव्यवस्थाओं में कानून महिलाओं को कैसे प्रभावित करते हैं, ने सऊदी अरब की अर्थव्यवस्था को 100 में से 70.6 अंक दिए, इसके 31.8 अंकों के पिछले स्कोर से भारी वृद्धि हुई।

सऊदी अरब विश्व बैंक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक 2017 के बाद से “विश्व स्तर पर सबसे बड़ा सुधार” करने वाला देश था, जिसमें महिलाओं की गतिशीलता, यौन उत्पीड़न, सेवानिवृत्ति की आयु और आर्थिक गतिविधि में प्रगति शामिल थी।

अध्ययन में पाया गया कि सऊदी ने जून 2017 से सितंबर 2019 तक महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण से जुड़े आठ में से छह संकेतकों में सुधार किए।

सऊदी अरब प्रेस एजेंसी के अनुसार, जीसीसी इस्साम अबु सुलेमान ने कहा, “सऊदी अरब मूल रूप से महिला सशक्तीकरण के मामले में अरब जगत में अग्रणी बन गया है।”