जेद्दाह – “अल्लाह पर हम भरोसा करते हैं और हम आपको सफलता प्रदान करने के लिए अल्लाह से दुआ करते हैं। अल्लाह के लिए रहमोकरम से हमारे देश में सभी क्षेत्रों में विकास और समृद्धि देखी जा रही है. हम उन बक्षीसों के लिए अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हैं जिनके साथ सऊदी को दुआएं मिली है.”

इन अल्फाज़ों के साथ दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन किंग सलमान ने मंगलवार को सऊदी की पहली हाई स्पीड ट्रेन हरमाइन का उद्घाटन किया. आपको बता दें की इस ट्रेन का उदघाटन बेहद अहम है क्योंकि सऊदी में हरमाइन का इंतज़ार हर किसी को था. इस ट्रेन का फैयदा हज और उमराह ज़ायेरीनों को भी होगा.

सऊदी गेजेट के मुताबिक, किंग ने जेद्दाह स्टेशन पर ट्रेनिंग की सेवा मदीना क्षेत्र की यात्रा की. इसी ट्रेन में किंग सलमान ने सफ़र भी किया. परिवहन मंत्री डॉ नबिल अल-अमोदी ने कहा कि अल्लाह ने तीर्थयात्रियों की सेवा के लिए  सऊदी का सम्मान किया. उन्होंने कहा कि किंग ने पूर्ण क्षमता वाले तीर्थयात्रियों की सेवा करने के निर्देश जारी किए हैं जिनमें विजन 2030 के साथ मूल परिवहन सेवाएं प्रदान करना शामिल है.

उन्होंने कहा कि हरमाइन एक्सप्रेस ट्रेन प्रोजेक्ट विजन 2030 के उद्देश्य से है, जिसका अहम मकसद तीर्थयात्रियों और आगंतुकों की संख्या को दो पवित्र मस्जिदों में जाने में आसानी हो.  यह मिडिल ईस्ट में सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक स्पीड ट्रेन परियोजना है.

इस 300 किलोमीटर प्रति घंटे की ट्रेन में पांच स्टेशनों को जोड़ने वाले 450 किमी की दूरी शामिल होगी: मक्का, जेद्दाह, जेद्दाह, रबीग़ और मदीना में किंग अब्दुल अज़ीज़ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे तक ले जाएगी.