सऊदी अरब में एक विशेष आपराधिक न्यायालय ने ईरान के साथ संवाद करने के लिए एक आतंकवादी सेल का गठन करने वाले चार लोगों के लिए मौत की सज़ा के आदेश जारी किए हैं. इन लोगों के ईरान के साथ सम्बन्ध है और यह सऊदी में रहकर यहाँ की सभी जानकारी ईरान तक पहुंचा रहे थे.

अल अरेबिया के मुताबिक, कहा जा रहा है कि इस समूह ने हथियारों और विस्फोटकों के इस्तेमाल पर और सड़कों पर लड़ने और सुरक्षा एजेंसियों से छिपाने के तरीके पर ईरान में क्रांतिकारी गार्ड शिविरों में ट्रेनिंग हासिल की थी.

अरब नामा को मिली जानकारी के मुताबिक, ईरान की यात्रा करने वाले प्रशिक्षुओं को एक पर्यटक कार्यालय के माध्यम से यह सुविधा मिली जो उन्हें भर्ती कराती थी. सऊदी की एकता और स्थिरता को बाधित करने और नुक्सान पहुँचाने  के लिए हथियार, विस्फोटक और सैन्य युद्ध का संचालन करने के लिए प्रशिक्षित किए जाने के बाद आतंकवादी सेल का गठन किया गया था.

इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ की, उन्हें विस्फोटक बनाने और सऊदी अरब में बम विस्फोट करने के लिए भी प्रशिक्षित किया गया था. समूह ने देश में कुछ आंकड़ों की हत्या करने की भी योजना बनाई थी.

अदालत ने पर्यटन कार्यालय को बंद करने और उसके लाइसेंस को रद्द करने का फैसला किया है.