बुधवार को सऊदी अरामको के शेयर बाजार में उतरते ही थोड़ी देर में प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) की लिस्ट‍िंग कीमत से 10 फीसदी ज्यादा कीमत पर पहुंच गए (पहले दिन अधि‍कतम इतनी ही तेजी की इजाजत थी). इसके शेयर 32 रियाल पर लिस्ट हुए थे, लेकिन कुछ ही देर में शेयर कीमत 35.2 रियाल पर पहुंच गया.

इससे सऊदी अरब की इस दिग्गज सरकारी कंपनी का वैल्यूएशन 1.88 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है. इस तरह यह दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली लिस्टेड कंपनी बन गई है. हालांकि इसमें कारोबार के लिए उपलब्ध शेयरों का हिस्सा महज 1.5 फीसदी है.

इस आईपीओ से अरामको ने रिकॉर्ड 25.6 अरब डॉलर की राशि जुटाई है. सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस यह चाहते थे कि कंपनी को करीब 2 ट्रिलियन डॉलर का वैल्यूएशन मिले और यदि गुरुवार को भी इसके शेयर 10 फीसदी चढ़ गए तो वैल्यूएशन इस लेवल पर पहुंच सकता है.

रिलायंस से 13 गुना बड़ी कंपनी

भारत में रिलायंस सबसे बड़ी कंपनी है जिसका बाजार पूंजीकरण करीब 9.90 ट्रिलियन (लाख करोड़) रुपये है, इस हिसाब से देखें तो अरामको रिलायंस से 13 गुना बड़ी कंपनी है जिसका वैल्यूएशन अगर रुपये में आंकें तो करीब 133 लाख करोड़ रुपये होता है.

भारत के जीडीपी का 72 फीसदी

अरामको का 1.88 लाख करोड़ डॉलर का वैल्यूएशन इस हिसाब से चौंकाने वाला आंकड़ा है कि भारत का कुल जीडीपी करीब 2.6 लाख करोड़ डॉलर का है. यानी इसका वैल्यूएशन भारत के कुल जीडीपी के 72 फीसदी के आसपास है.

अरामको के द्वारा दुनिया के करीब 10 फीसदी कच्चे तेल का उत्पादन होता है और यह साल 2018 में दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली कंपनी रही है. कमाई के मामले में इसने अमेरिका की दिग्गज कंपनियों ऐपल इंक, एक्सन मोबिल जैसी कंपनियों को पीछे छोड़ दिया है. पिछले साल कंपनी ने 111.1 अरब डॉलर की आय हासिल की थी.

वैल्यूएशन के हिसाब से दुनिया की 5 टॉप कंपनियां

 1 अरामको   1.88 ट्रिलियन डॉलर
 2  ऐपल  1.20 ट्रिलियन डॉलर
 3 माइक्रोसॉफ्ट 1.16 ट्रिलियन डॉलर
 4  अल्फाबेट  927.72 अरब डॉलर
 5  एमेजॉन  867.01 अरब डॉलर