SOURCE: SAUDI GAZETTE

रमजान के दौरान हर कोई रोज़े रखता है, चाहे वह घर में रहने वाले लोग हो या फिर नौकरी करने वाले. लेकिन इफ्तार से पहले हर कोई रोज़ा खोलने के लिए अपने घर आता है. ऐसी में इन दिनों सऊदी की सड़कों पर इफ्तार के वक़्त जल्दी घर पहुँचने के लिए लोग बहुत तेज़ी से गाड़ी चलाते है जिसकी वजह से आये दिन सऊदी की सड़कों पर भयंकर हादसे हो रहे है. इन हादसों से बचने के लिए सऊदीयों ने एक अभियान की शुरुआत की है, जो बेहद ही दिलचस्ब है.

सऊदी गेजेट के मुताबिक, इफ्तार से एक घंटे पहले सऊदी की सड़कों पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक देखने को मिलता है जिसकी वजह से दुर्घटनाओं का एक बड़ा खतरा रहता है. रोज़ा इफ्तार करने के लिएहर कोई घर पहुंचने की कोशिश में तूफानी तरीके से ड्राइविंग करते है.

अरब नामा को मिली जानकारी के मुताबिक, जेद्दाह नाउ नाम स्वयंसेवकों का एक समूह जल्दबाजी के चालकों के लिए हर रोज़ 400 इफ्तार से भरे डिब्बे वितरित करते है. यह इफ्तार मील बॉक्स उन ड्राइवरों को दिए जा रहे है जो तेज़ी से गाड़ी चलाकर घर जा रहे होते है. जब यह गाड़ियां ट्रैफिक सिग्नल पर रूकती है जब तब लोगों को रोज़ा खोलने के लिए इफ्तारी के सामान से भरा डब्बा दिया जाता है ताकि वह रास्ते में रोज़ा इफ्तार कर सकें.

SOURCE: SAUDI GAZETTE

समूह के सदस्य साद अल गमदी कहते हैं, “मुसलमानों को खिलाने से महान इनाम के अलावा, हमारा लक्ष्य सड़कों को सुरक्षित बनाना है जो इफ्तर के वक़्त बहुत जल्दी में होते हैं, इसलिए वे बेकार ढंग से ड्राइव करते हैं. जिसकी वजह से भयंकर सड़क हादसे होते है.

उन्होंने कहा कि, “हम एक व्यवस्थित ढंग से काम करते हैं जहां प्रत्येक सदस्य अपनी भूमिका जानता है और हम आगे की भीड़ को रोकने के लिए कारों को एक सुरक्षित स्थान पर रोकने के लिए मार्गदर्शन करते हैं, ताकि ट्रैफिक जाम ना हो सकें.”

सऊदी के आस-पास के विभिन्न शहरों में कई समूह पवित्र महीने की प्रतीक्षा करते हैं ताकि वे अपने परिवारों के साथ मिलकर इफ्तार में शामिल हो सकें. आपको बता दें कि, आम तौर पर, इस इफ्तार बॉक्स में खजूरें, ठंडे पानी की बोतल , दही पेय, जूस और स्नैक्स होते हैं.

SOURCE: SAUDI GAZETTE

रमजान के पाक महीने के दौरान यातायात उल्लंघन को रोकने के लिए देश के 19 शहरों में “रमजान अमन” या “सेफ रमजान” नाम का एक व्यापक अभियान चलाया गया ही जिससे सड़क को कम करने में मदद मिलेगी. दुर्घटनाओं के बिना रमजान” नारे के तहत, अभियान विभिन्न चैरिटी संगठनों द्वारा यातायात के सामान्य विभाग के साथ भागीदारी में एक सामाजिक जिम्मेदारी पहल है.

कुवैत, ओमान, बहरीन, जॉर्डन, बोस्निया और संयुक्त अरब अमीरात सहित कई अन्य देश भी इस अभियान में भाग ले रहे हैं. 7,000 से अधिक स्वयंसेवकों ने ट्रैफिक लाइट पर कारों में सवार लोगों को इफ्तारी का सामान बांट रहे है.