सऊदी में ईद का जश्न कई दिनों तक मनाया जाता है ऐसे में ईद उत्सव के हिस्से के रूप में रियाद में आयोजित एक रूसी सर्कस समारोह में वायरल फुटेज शॉट ने सऊदीयों में गुस्से की लहर कायम कर दी क्योंकि सर्कस में आई रूसी डांसर ने जो ड्रेस पहनी वह वह बहुत ज्यादा शहर से चिपकी हुई थी.

4 दिवसीय कार्यक्रम ईद के लिए सऊदी मनोरंजन प्राधिकरण के कैलेंडर का हिस्सा है. अनुसूचित कार्यक्रमों में से एक में नियमित सर्कस कृत्यों का प्रदर्शन करने वाली महिला नर्तकियों को कैप्चर करने वाले वीडियो अपलोड करने के बाद सऊदी लोगों ने ट्वीटर पर महिला के कपड़ों को लेकर नाराज़गी ज़ाहिर की.

स्टेप फीड के मुताबिक, अब-वायरल हैशटैग के माध्यम से ट्वीटिंग “रियाद में नग्न रूसी महिलाओं” से रूसी महिलाओं पर जूबानी हमला किया. क्योंकि ड्रेस ती ही ऐसी जिसे देखकर लग रहा था कि, डांसर महिलाओं ने कुछ नहीं पहना है.

अरब नामा को मिली जानकारी के मुताबिक, वहीँ कुछ लोगों का दावा है की यह विडियो फेक है. वहीँ कुछ सऊदी का कहना है की यह विडियो फेक है क़तर की तरफ से सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही है.

हालांकि, कई ने बाद में इस सबूत के साथ दावा किया है कि सऊदी स्नैपचैट उपयोगकर्ताओं द्वारा वायरल फुटेज लिया गया था जो सऊदी की राजधानी शहर रियाद में आयोजित किया गया.

भले ही, कई प्रदर्शनों के समर्थन में ट्वीट करते हुए कह रहे थे कि अब किसी भी वायरल वीडियो में से कुछ भी देश के किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं करता है.