सऊदी अरब में सार्वजनिक अभियोजन पक्ष ने पिछले महीने की आखिरी तारिख को सोशल मीडिया पर एक नोटिस जारी किया था , जो की प्रवासियों के लिए था. प्रवासियों के लिए बनाये गए इस नोटिस को सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के बाद यह नोटिस सऊदी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया.

क्या दी गयी है चेतावनी ?

इस मंगलवार को सऊदी सार्वजनिक अभियोजन द्वारा पोस्ट किये गए ट्वीट में कुछ नियम बनाये गए हैं और जिन्हें प्रवासियों द्वारा अपनाने की उम्मीद की जा रही है.

इनमें “सऊदी समाज के मूल्यों के प्रति विचारशील होना” और “अपनी परंपराओं और भावनाओं का सम्मान करना शामिल है.

इस ट्वीट के सोशल मीडिया पर पब्लिश होते ही यह सौदियों के मोबाइल फ़ोन तक चला गया, कई सौदियों ने सोचा की हाँ इस रुढ़िवादी देश में नियमों की सख्त जरुरत है तो कई इस पोस्ट पर नाराज हो गए और उन्होंने कहा की यह अनुचित है.

सऊदी अभियोजन पक्ष ने किया यह ट्वीट

सऊदी अरब में रहने वाले सभी प्रवासी यह अवस्य पढ़े.

1 – देश के कानूनों का पालन करें.

2 – सऊदी समाज के मूल्यों के प्रति विचारशील रहें.

3 – इसकी (समाज की) परंपराओं और भावनाओं का सम्मान करें.”

क्यों हुए प्रवासी गुस्सा और क्या कहना है प्रवासियों का ?

हालंकि इसके बाद कई लोग इस ट्वीट से गुस्सा हो गए और कई लोगों ने इस ट्वीट की सराहना की है.

(“ठीक है, आप हमें बताइए की हमें क्यों सम्मान करना चाहिए जब आपके देश के हमारा भी सम्मान नहीं करते ?)

(सभी को, राष्ट्रीय और प्रवासी.. दोनों के देश के नियमों का पालन करना चाहिए.)

“मुझे उम्मीद है कि साम्राज्य के सार्वजनिक अभियोजन ने सऊदी अरब के निवासियों को भी यही चेतावनी दी हो.जो की निम्न है.”

1 – इस्लामी शरिया का पालन करना.

2 – प्रवासी की भावनाओं का सम्मान करना और उन्हें किसी भी तरह से चोट नहीं पहुंचाना .

3 – देश के अपने नागरिकों को प्रवासियों के खिलाफ नस्लीय आरोप लगाने का अधिकार नहीं है.

कोई भी जो इन नियमों का पालन नहीं करता है उसे जांच के लिए सार्वजनिक अभियोजन पक्ष में स्थानांतरित किया जाना चाहिए.”