सौजन्य से-अरब न्यूज

सऊदी अरब प्राचीन सभ्यताओं का घर है यह तो हर कोई जानता है. सऊदी अरब में आज भी हजारों साल पुरानी सभ्यताएं देखने को मिलती हैं.सऊदी को इन्ही सभ्यताओं की हिफाजत करने के लिए इंटरनेशनल अवार्ड मिला है.

शारजाह अंतर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक विरासत पुरस्कार

राज्य की सांस्कृतिक विरासत की देखभाल करने के लिए दो पवित्र मस्जिद कार्यक्रमों(टू होली मोस्क्यु प्रोग्राम) ने अपनी उपलब्धियों के लिए शारजाह अंतर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक विरासत पुरस्कार प्राप्त किया है.

अरब न्यूज के अनुसार इसे एक अभूतपूर्व राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रायोजित परियोजनाओं और राष्ट्रीय विरासत के सभी पहलुओं से संबंधित प्रयासों के रूप में वर्णित किया गया था.

किंग सलमान की पहल 

सांस्कृतिक विरासत की देखभाल करने के लिए राजा सलमान की पहल देश द्वारा प्रायोजित और वित्त पोषित एससीटीएच द्वारा प्रस्तुत आउटपुट में से एक है और इसे सऊदी विजन 2030 की महत्वपूर्ण पहलों के हिस्से के रूप में एसआर 5 बिलियन (1.3 अरब डॉलर) से अधिक के रूप में माना जाता है.

अरब न्यूज के अनुसार इस पहल में 10 पाठ्यक्रम शामिल हैं, जिसमें कई मुख्य परियोजनाएं शामिल हैं जो कुल 330 से अधिक है.

अरब नामा को मिली खबरों के अनुसार देश ने चार साल पहले एससीटीएच द्वारा प्रस्तुत इस कार्यक्रम को अपनाया और एसआर 4 अरब ($ 1 बिलियन) से अधिक के साथ राष्ट्रीय परिवर्तन कार्यक्रम के भीतर वित्त पोषित किया.

इस कार्यक्रम में देश में 18 संग्रहालयों की स्थापना, 80 विरासत स्थल खोले जो की यात्रियों के लिए हैं और 18 गांवों की बहाली और आगंतुकों के लिए स्थापना शामिल है.