विज़न 2030 के तहत सऊदी अरब में सऊदी नागरिकों को रोजगार देने की पहल में सबसे ज्यादा नुकसान प्रवासियों को हो रहा है.सऊदी अरब में कई क्षेत्रों से प्रवासियों को निकाला जा चूका है और कई क्षेत्रों से निकाला जाना बाकी है. कई लाखों प्रवासियों ने देश छोड़ दिया है और कई प्रवासी अभी तैयारी में हैं. राष्ट्रीयकरण के चलते देश में प्रवासियों की नौकरी पर सऊदी युवाओं को रोजगार दिया गया.

 इतने कम समय में दिया गया इतने सऊदी नागरिकों को रोजगार 

राष्ट्रीयकरण के चलते ह्यूमन रिसोर्सेज डेवलपमेंट फण्ड के प्रवक्ता खालिद अबा अल-खेल ने सऊदी युवाओं को देश में मिल रहे रोजगार समर्थन की सराहना कर कहा की “2018 के पहले तीन महीनों में प्रवासियों की जगह देश में  40,869 सऊदी युवाओं को रोजगार दिया गया.”

ह्यूमन रिसोर्सेज डेवलपमेंट फण्ड

उन्होंने कहा की ह्यूमन रिसोर्सेज डेवलपमेंट फण्ड के विभिन्न चैनलों के माध्यम से इन सऊदी युवा महिला और पुरुषों को जैसे तावाफुक (शारीरिक रूप से भर्ती के लिए कार्यक्रम),हाफिज (जॉब सीकर के लिए कार्यक्रम) ट्रेनिंग सेंटर से रोजगार ढूँढने में सहायता मिली.

सऊदी गैजेट के अनुसार ह्यूमन रिसोर्सेज डेवलपमेंट फण्ड सऊदी अरब में सौदिकरण में वृद्धि के लिए अनेकों कार्यक्रम चला रही है. इसमें पार्ट टाइम वर्क भी शामिल है.

सऊदी गैजेट के अनुसार अबा अल-खेल ने कहा की इन कार्यक्रमों के माध्यम से 18,983 पुरुषों को और 21,886 महिलाओं को रोजगार देने में समर्थन दिया गया.

उन्होंने कहा कि ह्यूमन रिसोर्सेज डेवलपमेंट फण्ड देश के विजन 2030 को प्राप्त करने के लिए निजी क्षेत्र में प्रवासी श्रमिकों की जगह सऊदी नागरिकों को रोजगार देना के लिए समर्थन देने के अपने प्रयासों को जारी रखेगा.