इन दिनों अरब देशों की इस’राइ’ ल से बढ़ती नजदीकियां दुनियाभर के मुस्लिमों के लिए बेहद दुःखद और कभी ना बोलने वाला वाकया बन गया है। मक्का की ग्रैंड मस्जिद यानि अल हरम शरीफ के इमाम अब्दुलरहमान अल-सूदैस को अपने खुतबे में सऊदी अरब के इस’राय’ल के साथ सबंधों को सामान्य करने की वकालत करना भारी पड़ गया है। दरअसल मुस्लिम दुनिया ही नहीं अन्य देशों में भी उनकी तीखी आ’लोच’ना की जा रही है।

दरअसल, शुक्रवार को अपने खुतबे में अब्दुलरहमान अल-सूदैस ने स्पष्ट रूप से यहूदियों का उल्लेख करते हुए कहा कि मुस्लिमों को गैर-मुस्लिमों के साथ बातचीत करनी चाहिए और उनके प्रति दया का भाव प्रदर्शित करना चाहिए। उनकी ये टिप्पणी संयुक्त अरब अमीरात और इस’ रा’ यल के रिश्तों के सामान्यीकरण के बाद सामने आई है।

अल-सूदैस ने खुतबे में मुस्लिम नमाजियों से आह्वान करते हुए कहा, “पारस्परिक आदान-प्रदान और अंतरराष्ट्रीय संबंधों में स्वस्थ व्यवहार के साथ किसी भी तरह की भ्रांतियों से बचा जाए”। उन्होने कहा, जब स्वस्थ बातचीत की उपेक्षा की जाती है, तो सभ्यताओं में टकराव होगा और जो भाषा सामने आएगी वह हिंसा, बहि’ष्कार और घृ’णा में से एक होगी।”

उनके इस बयान के बाद मुस्लिम दुनिया में खलबली मच गई है। दरअसल उन्होने अपने खुतबे में यरूशलेम और अल-कुद्स का भी उल्लेख किया। जहां मुस्लिमों का तीसरा सबसे पवित्र स्थल है और कथित यहूदी देश इस’राय’ ल उसे हथियाना चाहता है।

सऊदी परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 


न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here
Loading...