सऊदी अरब कम मांग के जवाब में अगले महीने तेल आपूर्ति को कम करेगा, और अगले वर्ष यानी 2019 में कटौती का पालन किया जा सकता है. अबू धाबी में एक सम्मेलन में बोलते हुए, सऊदी ऊर्जा मंत्री खालिद अल फलीह ने कहा कि सऊदी में तेल उत्पादन प्रति दिन 500,000 बैरल गिर जाएगा.

उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम निर्यात करने वाले देशों (ओपेक) और उसके सहयोगियों के संगठन के सदस्य अगले साल अगर ज़रूरत पड़ी तो आपूर्ति को कम कर सकते हैं. कच्चे तेल के सबसे बड़े निर्यातक सऊदी अरब ने रविवार को कहा कि वह अगले महीने से तेल का उत्पादन घटाएगा। सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फालिह ने कहा कि उनका देश दिसंबर से आपूर्ति में पांच लाख बैरल रोजाना तक की कटौती करेगा.

तेल की घटती कीमतों को फिर से बढ़ाने के लिए दुनिया के प्रमुख तेल उत्पादकों की एक अहम बैठक से पहले सऊदी अरब का यह फैसला महत्वपूर्ण है. ओपेक और गैर-ओपेक तेल उत्पादक देशों की बैठक से पहले हालांकि फालिह ने कहा कि अब तक व्यापक तौर पर उत्पादन कटौती पर कोई आम सहमति नहीं बन पाई है.

अक्टूबर के शुरू में कच्चे तेल की कीमत चार साल के ऊपरी स्तर पर पहुंच गई थी. इसके बाद अधिक आपूर्ति और कम मांग की आशंकाओं के कारण महज एक महीने में तेल की कीमत में 20 फीसद तक की गिरावट दर्ज की गई है.